loading...

ये हैं दुनिया कि सबसे ताक़तवर हवाई ताक़तें,जानिए रफ़्फ़ैल की ख़रीद के बाद कहाँ पहुँच गया भारत

indian army

दुनिया के सारे देश अपनी सीमओं की सुरक्षा हेतु कई प्रकार की फाॅर्स रखते है, उन्ही में से एक हवाई ताकत अर्थात एयरफोर्स भी होती है l वैसे एयरफोर्स सेना रखने की शुरुवात सर्वप्रथम फ़्रांस से हुई थी किन्तु स्वतंत्र वायुसेना के तौर पर सन 1918 में ब्रिटिश रॉयल फ़्लाइंग मिलेट्री फ़ोर्स की स्थापना सबसे पहले हुई। लगभग 106 देशों का मिलेट्री का डाटा रखने वाली संस्था ग्लोबल फायरपॉवर ने अलग अलग तथ्यों को देखते हुए इन देशों के एयरफोर्स की रैंकिंग तैयार की है l आज हम आपको बताते है विश्व की उन टॉप 10 एयरफोर्स के बारे में l

1. यूएस एयरफोर्स, अमेरिका

Image Credit : CNET

अमेरिकी वायुसेना की स्थापना 11 सितंबर, 1947 को हुई थी l यह फाॅर्स इस वक्त इराक, अफगानिस्तान और सीरिया समेत कई देशों के युद्धों और संघर्षों में ऑपरेशन को अंजाम दे रही है। यह विश्व की सबसे ताकतवर एयरफोर्स है, जिसके पास कुल 13,892 एयरक्राफ्ट और 3,29,500 एक्टिव एयरमेन हैं। अपने फील्ड में इसके 5,032 लडा़कू विमान हैं जबकि कॉम्बैट कोडेड स्क्वाड्रनों की संख्या 40 है। कुल लड़ाकू बमवर्षक स्क्वाड्रन की बात करें तो इसके पास 720 हैं।
केजरीवाल सरकार पर फूटा बम, दिल्ली में फिर से होंगे विधानसभा के चुनाव
फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स- 2,207

Loading...

फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट- 2,797

You May Like These Too!
loading...

ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट- 5,366

ट्रेनर एयरक्राफ्ट- 2,809

हेलिकॉप्टर- 6,196

अटैक हेलिकॉप्टर- 920

2. रसियन एयरफोर्स Source : sana.sy

सोवियत संघ के विघटन के बाद रूस में नए सिरे से एयरफोर्स की स्थापना 1991-92 में हुई थी। बहुत ही तेजी से यह दुनिया में दूसरे नंबर की पोजीशन पर आ गर्इ। अब रूस के पास ‘नाटो’ मिलट्रीज से भी ज्यादा ताकतवर फाइटर प्लेन्स हैं। हालांकि अमेरिका की तुलना में इनकी संख्या बेहद कम है, कुल 3,429 एयरक्राफ्ट हैं। रूस के पास 769 फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स, 1,305 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 1,083 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 346 ट्रेनर एयरक्राफ्ट, 1,120 हेलिकॉप्टर और 462 लडा़कू हेलिकॉप्टर्स का बेड़ा है।

3. इस्राइली एयरफोर्स Source : ipsnews

इजरायल की वायुसेना दुनिया में सबसे उन्नत तकनीकी हवार्इबलों में से एक है। यह बोइंग एफ-15 ई स्ट्राइक ईगल और फाइटर, पेट्रोल, ट्रेनर और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट से लैस है। इजयरायल के पास एयरबोर्न अर्ली वार्निंग एंड कंट्रोल (awacs) सिस्टम है। इसके अलावा इजरायली मिलिटरी प्रारंभिक नींव से ही रचनात्मकता और कुशलता में सफल रही है।

4. पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयरफोर्स Source : staticflickr

11 नवंबर 1949 में स्थापित हुई चीन एयरफोर्स 330,000 सैनिकों और 2,500 से ज्यादा एयरक्राफ्ट के साथ एशिया की सबसे बड़ी वायु सेना है। इसे खतरनाक सेल्फमेड फाइटर प्लेन के लिए जाना जाता है। चीन के पास कुल 2,860 एयरक्राफ्ट हैं। इनके अलावा यहां 876 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 1,066 फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स, 1,311 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 352 ट्रेनर एयरक्राफ्ट, 908 हेलिकॉप्टर और 196 अटैक हेलिकॉप्टर भी हैं।

दुनिया के सामने शेर की तरह जीने वाले योगी आदित्यनाथ इस चीज़ से डरते हैं, पढ़ें पूरी खबर !!!

5. फ्रांसिसी वायुसेना Source : pcastuces

इसे दुनिया की पहली प्रोफेशनल एयरफोर्स के तौर पर जाना जाता है। 1909 में इसकी स्थापना हुई थी। यूरोप में रूस के बाद फ्रांस पर ही उन्नत लड़ाकू विमानों का दूसरा बड़ा बेड़ा है। इसके पास नई जेनरेशन के एयरक्राफ्ट्स हैं, जिनकी संख्या 1,264 है। फ्रांस में 257 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 283 फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स, 689 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 264 ट्रेनर एयरक्राफ्ट, 601 हेलिकॉप्टर एवं 46 अटैक हेलिकॉप्टर भी हैं।

6. जापान/ (JASDF) Source : wikimedia

सेकंड वर्ल्ड वॉर के बाद 1954 में जापान की एयरफोर्स की स्थापना हुई। अल्ट्रा मॉर्डन रडार सिस्टम और कॉम्बैट एयर पैट्रोल के साथ जापान की एयरफोर्स को उसके घातक हमलावर दस्ते के लिए जाना जाता है। इसके पास कुल 1,613 एयरक्राफ्ट हैं। वायुसैनिक बेडे़ में 289 फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स, 289 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 529 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 432 ट्रेनर एयरक्राफ्ट, 741 हेलिकॉप्टर और 122 अटैक हेलिकॉप्टर भी हैं। इसे Armee de I’ Air भी कहा जाता है।

7. इंडियन एयर फोर्स: Source : blogspot

भारतीय वायुसेना की स्थापना रॉयल एयरफोर्स के रूप में 8 अक्टूबर, 1932 को हुई थी। आज इसे प्रोफेशनल स्टैंडर्ड के साथ दुनिया की बेहतर एयरफोर्स के तौर पर जाना जाता है। अपने कुल 1,905 एयरक्राफ्ट्स के साथ हम ब्रिटेन, पाकिस्तान और कोरियन एयरफोर्स के मुकाबले कहीं ज्यादा ताकतवर है। भारत के पास 629 फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स, 761 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 667 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 263 ट्रेनर एयरक्राफ्ट, 584 हेलिकॉप्टर और 20 अटैक हेलिकॉप्टर का जखीरा है।

8. रॉयल एयरफोर्स ब्रिटेन Source : timeinc

यह दुनिया की सबसे पुरानी और पहली स्वतंत्र वायु सेना है। 1 अप्रैल 1918 में फर्स्ट वर्ल्ड वॉर के दौरान इसकी स्थापना हुई, जिसे रॉयल फ्लाइंग कॉर्प का नाम दिया गया। यूनार्इटेड किंगडम के पास 936 एयरक्राफ्ट और अत्याधुनिक फाइटर जेट्स हैं। आरएएफ की स्ट्रेंग्थ में 89 फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स, 160 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 365 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 343 ट्रेनर एयरक्राफ्ट, 402 हेलिकॉप्टर शामिल हैं। बोइंग ई-3 डी सेंट्री, रेथियॉन सेंटिनेल, लॉकहीड सी -130 जे हरक्यूलिस, ब्रिटिश एयरोस्पेस हॉक, यूरोफाइटर टाइफून रॉयल एयरफोर्स के प्रमुख जेट हैं।

9. पाकिस्तान: Source : wordpress

यहां एयरफोर्स की स्थापना 1947 में हुई। आज यह 65 हजार स्टाफ के साथ 900 से ज्यादा एयक्राफ्ट्स ऑपरेट कर रही है। पाकिस्तानी वायुसेना में करीब 3000 पायलट हैं। पाक के पास कुल 914 एयरक्राफ्ट हैं, वहीं हेलिकॉप्टर्स की संख्या 313 है। इस मुल्क के पास 387 फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स, 387 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 278 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 170 ट्रेनर एयरक्राफ्ट और 48 अटैक हेलिकॉप्टर हैं।

10. तुर्किश एयरफोर्स
Source : avioners.net

तुर्की के दावों के मुताबिक यह 1911 से एक्टिव है। तुर्की की आर्म्ड फोर्स ने सलाना बजट के अलावा 160 बिलियन डॉलर का मॉडर्नाइजेशन प्रोग्राम शुरू किया है। इसमें से 45 बिलियन डॉलर अकेले एयरफोर्स पर खर्च होता है। तुर्की के पास कुल 1,020 एयरक्राफ्ट हैं। वहीं यहां फाइटर्स / इंटरसेप्टर्स की संख्या 223 है। इनके अलावा 233 फिक्स विंग अटैक एयरक्राफ्ट, 439 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 276 ट्रेनर एयरक्राफ्ट, 443 हेलिकॉप्टर और 59 अटैक हेलिकॉप्टर भी तुर्की के पास मौजूद हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...