loading...

RAW एजेंट की कहानी उसी की ज़ुबानी-जब दुश्मनों के बीच अंसारी ने मरने छोड़ दिया था एक ईमानदार रॉ एजेंट को 

देश

#हामिद_अंसारी_की_शर्मनाक_खतरनाक_कहानी#एक_रॉ_अधिकारी_की_ज़ुबानी

1990 से 1992 के दौरान हामिद अंसारी ईरान में भारत का राजदूत था। उसी दौरान ईरान की खुफिया एजेंसी ने भारतीय दूतावास में कार्यरत संदीप कपूर नाम के एक रॉ अधिकारी को पकड़ लिया था। संदीप कपूर को हिरासत में क्यों लिया गया.? हिरासत के दौरान उनको कहां रखा गया.? इसकी कोई जानकारी ईरानी खुफिया एजेंसी ने नहीं दी थी और 3 दिन बाद संदीप कपूर को मरणासन्न हालत में एक सुनसान संकरी सड़क पर फेंक दिया गया था।

उस पूरे घटनाक्रम के दौरान और बाद में भी भारतीय राजदूत के रूप हामिद अंसारी ने उस घटनाक्रम के खिलाफ ईरान सरकार के समक्ष कड़ी नाराजगी आपत्ति दर्ज कराने के बजाय संदेहास्पद मौन साधे रखा था परिणामस्वरूप भारतीय दूतावास के समस्त कर्मचारियों में भयानक असन्तोष और आक्रोश व्याप्त हो गया था।

Loading...

लेकिन हामिद अंसारी की शातिर/संदेहास्पद चुप्पी का दुष्परिणाम यह हुआ था कि कुछ दिनों बाद ही ईरानी खुफिया एजेंसी ने भारतीय दूतावास में कार्यरत एक अन्य रॉ अधिकारी डीबी माथुर का अपहरण कर लिया था।

You May Like These Too!
loading...

2 दिनों तक उनका भी कोई पता नहीं चला था। इसबार पुनः हामिद अंसारी चुप्पी साधे रहा था। उसकी चुप्पी के ख़िलाफ़ डीबी माथुर की पत्नी समेत दूतावास में कार्यरत अधिकारियों कर्मचारियों की पत्नियों के 30 सदस्यीय दल ने जब हामिद अंसारी से मिलने की कोशिश की थी तो उसने उनसे मिलकर उनकी बात सुनने तक से भी मना कर दिया था। इसके नतीजे में उन महिलाओं के गुस्से का ज्वालामुखी फूट गया था। डीबी माथुर की पत्नी जबरदस्ती दरवाजा खोलकर हामिद अंसारी के कमरे में घुस गईं थीं।

दूतावास के अधिकारियों कर्मचारियों ने सीधे दिल्ली सम्पर्क कर तत्कालीन प्रधानमंत्री को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया था। तब जाकर दिल्ली के सीधे हस्तक्षेप के पश्चात डीबी माथुर की रिहाई सम्भव हो सकी थी।इसके बाद हामिद अंसारी ने ईरान में रॉ का दफ़्तर ही बन्द कर देने का सुझाव भारत भेजा था।

यह पूरा घटनाक्रम उस समय वरिष्ठ रॉ अधिकारी रहे श्री आरके यादव ने अपनी पुस्तक Mission RAW में विस्तार से लिखा है। उसी पुस्तक में उन्होंने यह भी जानकारी दी है कि हामिद अंसारी के लड़के को ईरानी एजेंसियों ने दो बार ईरानी वेश्याओं के साथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ा था लेकिन दोनों बार बिना किसी कार्रवाई या पूछताछ के उसको छोड़ दिया गया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...