loading...

ख़तरे में गठबंधन:धारा 370 ख़त्म करने की हवा के आग़ाज़ के बाद महबूबा के झंडे वाले तंज पर प्रधानमंत्री कार्यालय की और से आया ग़ज़ब जवाब 

देश

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राष्ट्रीय ध्वज पर विवादित बयान के बाद एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. एएनआई के अनुसार उन्होंने कहा कि मैं केंद्र से अपील करती हूं कि लाहौर घोषणा को फिर से शुरू करें जिससे हम जम्मू-कश्मीर में शांति से रह सकें. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ व्यापार मार्गों को ब्लाक नहीं किया जाना चाहिए, इसके बजाय वहां से ड्रग्स की तस्करी करने वालों पर कार्रवाई करनी चाहिए |

मुख्यमंत्री मुफ्ती ने शुक्रवार को चेतावनी दी थी कि अगर जम्मू कश्मीर के लोगों को मिले विशेषाधिकारों में किसी तरह का बदलाव किया गया तो राज्य में तिरंगा को थामने वाला कोई नहीं रहेगा | इसके बाद बीजेपी के नेताओं की भी प्रतिक्रिया आयी | अब आपको बताते हैं किसने क्या कहा

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राष्ट्रीय ध्वज पर विवादित बयान के बाद एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. एएनआई के अनुसार उन्होंने कहा कि मैं केंद्र से अपील करती हूं कि लाहौर घोषणा को फिर से शुरू करें जिससे हम जम्मू-कश्मीर में शांति से रह सकें. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ व्यापार मार्गों को ब्लाक नहीं किया जाना चाहिए, इसके बजाय वहां से ड्रग्स की तस्करी करने वालों पर कार्रवाई करनी चाहिए |.मुख्यमंत्री मुफ्ती ने शुक्रवार को चेतावनी दी थी कि अगर जम्मू कश्मीर के लोगों को मिले विशेषाधिकारों में किसी तरह का बदलाव किया गया तो राज्य में तिरंगा को थामने वाला कोई नहीं रहेगा | इसके बाद बीजेपी के नेताओं की भी प्रतिक्रिया आयी | अब आपको बताते हैं किसने क्या कहा |

Loading...

इस पर पीएमओ के एमओएस जीतेन्द्र सिंह ने कहा है कि तिरंगा हमारे लिए पवित्रता का प्रतीक है। यह जम्मू और कश्मीर में उतना ही ऊंचा लहरायेगा जितना बाकी के राज्यों में लहराता है। उन्होंने कहा कि हम सभी को देश के कानून और सभी एजेंसियों का सम्मान करना चाहिए। इतना ही नहीं उन्हें अपने ज्ञान और विवेक से बेहतर काम करने देना चाहिए।

You May Like These Too!
loading...

वहीं जेडीयू नेता केसी त्यागी ने किया महबूबा मुफ्ती के बयान का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि आर्टिकल 370 को खत्म करने की कोशिश नहीं होनी चाहिए।आपको बता दें कि शुक्रवार को महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि हम संविधान के दायरे में कश्मीर मुद्दे का समाधान करने की बात करते हैं और दूसरी तरफ हम इसपर हमला करते हैं।उन्होंने कहा, मुझे साफ तौर पर कहने दें। यह सब करके (अनुच्छेद 35 ए) को चुनौती देकर, आप अलगाववादियों को निशाना नहीं बना रहे हैं। उनका (अलगाववादियों का) एजेंडा अलग है और यह बिल्कुल अलगाववादी है। उन्होंने कहा, बल्कि, आप उन शक्तियों को कमजोर कर रहे हैं जो भारतीय हैं और भारत पर विश्वास करते हैं और चुनावों में हिस्सा लेते हैं और जो जम्मू कश्मीर में सम्मान के साथ जीने के लिये लड़ते हैं। यह समस्याओं में से एक है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...