loading...

कार्यभार सम्भालते ही ये क्या बोल गए नीतीश, लालू, तेजस्वी समेत कोंग्रेस को रौंद डाला। 

देश

बहुमत साबित करने में सफल हुए नीतीश कुमार। नीतीश कुमार के समर्थन में जहाँ 131 विधायकों ने वोट किया तो विपक्ष में 108 वोट पड़े। बहुमत साबित होने के बाद नीतीश और तेजस्वी के बीच खूब जुबानी तीर चले। तेजस्वी ने कहा – बीजेपी-जेडीयू का खेल पहले से ही फिक्स था।

पटना: पिछले कुछ दो दिनों में बिहार की राजनीति ने गजब की करवट ली है। राजद सुप्रीमो लालू यादव से दोस्ती तोड़कर अब नीतीश कुमार एनडीए के पाले से मुख्यमंत्री बन गए है। इसी को लेकर आज विधानसभा में भारी हंगामे के बीच मुख्यमंत्री ने बहुमत साबित किया। नीतीश कुमार के समर्थन में जहाँ 131 विधायकों ने वोट किया तो विपक्ष में 108 वोट पड़े। बहुमत साबित होने के बाद नीतीश और तेजस्वी के बीच खूब जुबानी तीर चले। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा कर दिया।

तेजस्वी ने नीतीश पर लगाये आरोपबिहार विधानसभा में बहुमत साबित करने से पहले नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश पर जोरदार हमला किया। उन्होंने कहा कि नीतीश अपने फायदे के लिए हे राम से जयश्रीराम हो गए। बीजेपी-जेडीयू का खेल पहले से ही फिक्स था। दूसरी ओर लालू यादव ने भी नीतीश पर जमकर हमला बोला।

Loading...

नीतीश बोले भ्रम न पालें राजद तेजस्वी के आरोपों के जवाब में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी काफी गर्म तेवर में नजर आये। उन्होंने साफ कहा कि जनता ने हमें यहाँ इसलिए नही बैठाया था की हम किसी एक परिवार की सेवा करें। जनता ने हमें बहुमत दिया था की हम उनकी सेवा करें। राजद इस बात का भ्रम न पाले की जनता ने उन्हें समर्थन दिया था। जनता ने महागठबंधन को समर्थन दिया था। उन्होंने कांग्रेस को भी आड़े हाथों लेते हुए यहाँ तक कह दिया कि आपको तो 10-15 सीट से ज्यादा नही मिल सकता था। आपको 40 सीट दिलवाने वाले हम है।

You May Like These Too!
loading...

लालू ने भी नीतीश पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को कम सीटें मिलने के बावजूद हमनें सीएम बनाया था लेकिन नीतीश ने बीजेपी से सांठगांठ कर लिया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...