loading...

मोदी के इजरायल दौरे से साफ संदेश,जिन वोटों पर कांग्रेस निर्भर उन वोटों पर बीजेपी निर्भर नही !

दुनिया देश मोदी

मुस्लिम इजराइल के खिलाफ है और इसी वजह से आज तक सबसे सच्चे दोस्त इजराइल से भारत ने दुरी बनाई 70 साल बाद कोई PM इजराइल भारत की तरफ से पहुंचे जिसका भारत के मुस्लिम समुदाय ने विरोध भी किया !मोदी के इजराइल दौरे से साफ़ संदेश मिलता है बीजेपी वोट बैंक की राजनीती नहीं करती देशहित में जो अच्छा होगा वो फैसला मोदी करेंगे.

इजराइल जिस ने बुरे वक़्त में हमेशा भारत की मदद की उसे हमेशा ये लगता था कि वो भारत की इतनी मदद करता है फिर भी भारत उसे दरकिनार करता है उसे उतनी वैल्यू नही देता लेकिन इस बार जो हुआ वो भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा.इजराइल जाकर मोदी ने इतिहास ही रचा है.

खुद केंद्र की सत्ताधारी मोदी सरकार के साफ़-साफ़ ये मन्ना है कि मोदी के इजराइल दौरे से भारत में एक बहुत ही कड़ा राजनितिक संदेश गया है संदेश यह कि पिछली सरकारें किस तरह मुस्लिम ‘वोट बैंक’ पॉलिटिक्स से बंधी हुई थीं और बीजेपी अब ‘नेशन फर्स्ट’ यानि देश पहले की पॉलिसी अपनाने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि देश के बड़े-बड़े राजनीतिक जानकार भी अब ये मानते हैं कि मोदी के इस इजराइल दौरे से साफ पता चलता है कि बीजेपी की मुस्लिमों के समर्थन पर कोई निर्भरता नहीं है.बीजेपी कांग्रेस की तरह ये सोच कर कदम नहीं उठाती की मुस्लिम समुदाय को क्या अच्छा लगेगा क्या बुरा लगेगा.

Loading...

बीजेपी देश पहले वाले मुद्दे को लेकर आगे चल रही है और इसी वजह से आज पुरे देश में बीजेपी को लेकर और एक अलग तरह का माहौल तैयार हो रहा है बीजेपी और मोदी को चाहने वालों में और ज्यादा लोग जुड़ते जा रहे हैं.

You May Like These Too!
loading...

देश का दुर्भाग्य है कि कांग्रेस जैसी पार्टी इतने साल तक देश पर राज करती रही.मुस्लिम वोट बैंक यह एक ऐसा मुद्दा है, जिसकी वजह से विपक्षी पार्टियां इस पश्चिम एशियाई मुल्क से रिश्तों को खुलकर स्वीकार करने में अभी तक असफल रही हैं !

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...