loading...

CCTV में क़ैद हुआ मौत का नंगा नाच, कमज़ोर दिल वाले ना देखें विडीओ।70 सेकंड 70 टुकड़े इस इंसान के 

देश

धुले (महाराष्ट्र): पिछले कुछ दिनों में भीड़ द्वारा कई लोगों की हत्या कर दी गयी। देश में धीरे-धीरे काफी अराजकता का माहौल बढ़ गया है। कई बार इस भीड़ के हाथ कोई निर्दोष भी लग जाता है, जिसे अपनी जान गंवानी पड़ जाती है। हालांकि कुछ बार दोषियों को भीड़ ने सजा दी है। लेकिन सजा देने का काम कानून का है ना कि काम जनता का। अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसे सजा कानून देगी ना की कोई आदमी।

लेकिन इस समय देश में भीड़ ही कानून तय करती है और लोगों को अपने हिसाब से सजा देने का काम कर रही है। पिछले दिनों बंगाल में एक महिला को भीड़ ने बुरी तरह पीटा और उसे ट्रैक्टर से बाँधकर घुमाया। बाद में महिला की मृत्यु हो गयी। लोगों का आरोप था कि महिला बच्चों की तस्करी में संलिप्त थी। हो सकता है कि महिला ऐसे कामों में संलिप्त रही हो, लेकिन इसका निर्धारण करने का हक़ किसी आदमी को नहीं है।

CCTV फुटेज कर सकता है आपको विचलित:

सजा देने का हक़ केवल कानून के पास है। शायद इसीलिए कानून का गठन किया गया है। अभी हाल ही में भीड़ के हत्थे एक और व्यक्ति चढ़ा है। लोगों ने 70 सेकेंड में इस व्यक्ति के ऊपर 70 हमले करके मौत के घाट उतार दिया। इस घटना का CCTV फुटेज जारी हुआ है, जो काफी विचलित करने वाला है। बताया जा रहा है कि लोगों ने जिसकी मार-मारकर हत्या कर दी उसका नाम गुंडा रफिदुद्दीन सफिउद्दीन शेख उर्फ़ गुड्डा था।

Loading...

तबतक हमला किया गया जबतक वह मर नहीं गया:

You May Like These Too!
loading...

व्यक्ति के ऊपर लगभग 1-12 लोगों ने करीब डेढ़ मिनट तक धारदार हथियारों से हमला करते रहे। हत्या करने वालों ने लगभग 70 सेकेंड में 70 बार हमला किया। पहले रफीउद्दीन को गोली मारी गयी, उसके बाद भी जब वह नहीं मरा तो उसके ऊपर धारदार हथियार से हमला किया गया। जानकारी के अनुसार पुलिस रिकॉर्ड में शातिर अपराधी गुड्डा एक दुकान पर चाय पी रहा था। तभी वहाँ कुछ हथियार बंद लोग पहुँच गए। एक व्यक्ति के पास बन्दूक थी,. जबकि बाकी के पास तलवारें थीं।
आपसी रंजिश की वजह से की गयी हत्या:
जिस व्यक्ति के पास बन्दूक थी, उसने पहले गोली मारी। उसके बाद वह गुड्डा को खींचकर बाहर लाया और तबतक तलवार से हमला किया गया जब तक वह मर नहीं गया। बताया जा रहा है कि मरने वाले गुंडा रफीउद्दीन उर्फ़ गुड्डा के ऊपर 33 आपराधिक मामले दर्ज थे। उसके ऊपर धुले महानगरपालिका जलाने के साथ-साथ लूट और अपहरण के मामले भी थे। हाल ही में वह जमानत पर छूटकर बाहर आया हुआ था। पुलिस ने हमले की वजह आपसी रंजिश बताया है। CCTV फुटेज के आधार पर दोषियों की पहचान कर ली गयी है।

वीडियो देखें-

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...