loading...

आप IPL में बिजी थे…अन्ना हजारे ने फोड़ दिया बम…सत्ता के लालची हैं केजरीवाल !

दिल्ली देश

New Delhi, Apr 07: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश की सियासत में एक बहस शुरू कर दी है। योगी वो सारे काम कर रहे हैं जिनके दावे देश के अलग अलग राज्यों के मुख्यमंत्री करते रहे हैं। लगातार बिना थके काम करने वाले योगी देश की मीडिया पर छाए हुए हैं। अलग तरह की राजनीति का दावा करने वाले अरविंद केजरीवाल ने अपने सियासी करियर की शुरूआत में इसी तरह से दावे और वादे किए थे। लेकिन पिछले कुछ समय से देखा जा रहा है कि वो अपने ही सिद्धांतों से दूर होते जा रहे हैं। ये हम नहीं बल्कि खुद केजरीवाल के गुरू अन्ना हजारे कह रहे हैं। अन्ना ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अब तक का सबसे बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा है कि केजरीवाल ने सत्ता की लालच में सिद्धांतों को ताक पर रख दिया है।

अन्ना ने शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर केजरीवाल पर उठ रहे सवालों पर कहा है कि ये बहुत दुख द है। बता दें कि शुंगलु कमिटी की रिपोर्ट में केजरीवाल सरकार पर अधिकारों और नियमों से परे जाकर फैसले लेने और भाई-भतीजावाद के साथ साथ अनियमितता का दोषी बताया गया है। इस से अन्ना काफी दुखी हैं। अन्ना ने संविधान और कानून का उल्लंघन करने के लिए केजरीवाल को जमकर फटकार लगाई है। अन्ना ने कहा कि केजरीवाल जो कर रहे हैं वो उसका समर्थन कभी नहीं कर सकते हैं। अन्ना ने कहा कि केजरीवाल ने उनकी सारी उम्मीदों को तोड़ दिया। वो पहले ऐसे नहीं ते। लेकिन सत्ता के लालच में उन्होंने सारे सिद्धांतों को ताक पर रख दिया है। कुल मिलाकर अन्ना ने केजरीवाल के खिलाप सबसे बड़ा हमला बोला है. वो इस से पहले भी केजरीवाल पर सवाल खड़े कर चुके हैं।

रालेगण सिद्धी से अन्ना हजारे की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि केजरीवाल भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में मेरे साथ थे। लेकिन अब वो बदल गए हैं। केजरीवाल से उनको काफी उम्मीदें थी। अन्ना ने कहा कि उन्हे लगता था कि केजरीवाल जैसा शिक्षित युवा भ्रष्टाचार मुक्त देश का निर्माण करेंगे। लेकिन उन्होंने सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। जिस तरह से दिल्ली सरकार नियमों और कानूनों को तोड़कर काम कर रही है वो उसका समर्थन कभी नहीं करेंगे। अन्ना ने कहा कि इस तरह का व्यवहार देश और समाज को कमजोर करेगा। लोगों का भरोसा उठ जाएगा। अन्ना ने यहां तक कहा कि वो भगवान को धन्यवाद करते हैं कि वो केजरीवाल से उस समय दूर हुए जब वो राजनीतिक दल बनाने जा रहे थे। अन्ना ने कहा है कि केजरीवाल के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनकी कभी केजरीवाल से मिलने की इच्छा नहीं हुई।

शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट में केजरीवाल को कई तरह की अनियमितताएं बरतने का आरोप लगा है। इसको लेकर अन्ना हजारे ने कहा है कि केजरीवाल पहले कहा करते थे कि नेता को साधारण जीवन जीना चाहिए। वो राजनीति में शुचिता की बात किया करते थे। लेकिन शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट से साफ है कि केजरीवाल ने सत्ता के लिए सारे आदर्शों और सिद्धांतों को किनारे कर दिया है। अन्ना के इस हमले को केजरीवाल के लिए बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है।

Loading...

अन्ना के कारण ही केजरीवाल घर घर में मशहूर हुए थे। अब अगर अन्ना कह रहे हैं कि केजरीवाल सत्ता के लालची हो गए हैं तो इसका जनता पर असर पड़ना तय है। इसी महीने एमसीडी के चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में अन्ना का ये बयान आम आदमी पार्टी के लिए मुश्किल का कारण बन सकता है।

You May Like These Too!
loading...
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...