आप केजरीवाल दिल्ली देश पंजाब पॉलिटिक्स

अन्ना का केजरीवाल को ख़त,कहा चंदा चुराकर क्या करना चाहते हो?मोदी पर बोलने से पहले अपने बग़ल झाँके केजरीवाल-जागरूक इंडियन

Advertisement

अन्ना केजरीवाल और उनकी पार्टी (AAP ) से बेहद नाराज हैं . इतने नाराज कि उन्होंने केजरीवाल को एक चिट्ठी लिखी और इसमें केजरीवाल की ‘चंदा नीति’ को लेकर सवाल भी उठाए . उन्होंने कहा कि मैं पहली बार मजबूरी में आपको पत्र लिख रहा हूं क्युकि जिस पवित्र राजघाट दिल्ली में हम मिलकर भ्रष्टाचार के विरोध में आंदोलन किया था

वहां कुछ लोग आम आदमी पार्टी को चंदा बंद सत्याग्रह कर रहे हैं .उन्होंने आगे लिखा है कि आंदोलनकारियों ने एक पत्र लिखा है जिसमे लिखा है कि आपने देश में सत्ता के बजाय व्यवस्था परिवर्तन लाने की बात की थी और AAP को जनता की तरफ से इकट्ठे किए चन्दे का हिसाब अपनी पार्टी के वेबसाइट पर दिखाने जैसे कई वादे किए थे लेकिन वो वादे आपने नहीं निभाए हैं

Advertisement

उन्होंने यह भी लिखा है कि यह बात आपकी कथनी और करनी में फरक करने वाली बात है . यह समाज के प्रमुख बनकर चलने वाले कार्यकर्ता के लिए ठीक नहीं है . दरअसल AAP के एनआरआई सेल के सहसंयोजक पद से निलंबित अमेरिकी डॉक्टर मुनीश रायजादा ने राजघाट पर पार्टी के खिलाफ “चंदा बंद सत्याग्रह” का ऐलान किया और पिछले महीने ही AAP से अपने दिए हुए पूरे पैसे वापस मांगे थे और चंदे का ब्योरा सार्वजनिक करने की मांग भी की

Advertisement

बता दें कि मुनीश रायजादा अमेरिका में बच्चों के मशहूर डॉक्टर हैं . जब AAP बनी तो उन्होंने अमेरिका में पार्टी की एनआरआई सेल की स्थापना भी की . पिछले साल उन्होंने अपनी वेबसाइट पर लालू प्रसाद यादव के खिलाफ एक लेख लिखा था जिसके बाद अनुशासनहीनता के आरोप में उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया . मुनीश का आरोप है कि उनके जैसे कई समर्थक पार्टी को चंदा भेजते हैं लेकिन इस साल जून से पार्टी ने चंदे की ऑनलाइन लिस्ट वेबसाइट से हटा ली है क्योंकि वेबसाइट पर दी गई जानकारी चुनाव आयोग के रिकॉर्ड से मैच नहीं कर रही थी .

Advertisement

अन्ना ने आगे लिखा कि देश में व्यवस्था परिवर्तन लाना है तो शब्द और कृति को जोड़नेवाली लीडरशिप की जरूरत है . आपने जो जनता को देश में परिवर्तन का वादा किया था . वो वादा पूरा होता नही दिख रहा है . इन सब बातो से तो यही लगता है कि अन्ना केजरीवाल से बहुत नाराज हैं और उनकी ये चिट्ठी केजरीवाल के लिए भी काफी परेशानी खड़ी करेगी क्योंकि पंजाब के चुनाव करीब हैं जहां केजरीवाल की पार्टी जीत के सपने देख रही है 

Follow Author
You May Like These Too!
loading...

Comments

comments

Loading...