loading...

मोदी की तरफ़ नीतीश का बढ़ता झुकाव है ख़तरनाक,सोनिया कहेंगी तो टूट सकता है महगठबँधन-कोंग्रेस

देश पॉलिटिक्स मोदी

नई दिल्ली, 23 नवंबर :कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व राज्य के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि आलाकमान के निर्देश पर कांग्रेस ने बिहार में जदयू व राजद के साथ गठबंधन किया है। अगर आलाकमान का निर्देश होगा तो आज भी गठबंधन टूट सकता है। शिक्षा मंत्री के इस बयान से राजनीति गरमा गई है। यह पहला मौका नहीं है, इसके पूर्व भी वे इशारों-इशारों में राजद को लेकर भी टिप्पणी कर चुके हैं। नोटबंदी पर कांग्रेस आम लोगों के साथ खड़ी है। नोटबंदी से जनता को परेशानी हो रही है, तो हम जनता के साथ खड़े हैं। कांग्रेस आकालमान का फैसला है कि नोटबंदी का देशव्यापी विरोध करना।

उन्होंने कहा कि आलाकमान की सहमति से हमने बिहार में महागठबंधन का साथ दिया था। अगर आलाकमान का निर्देश हो तो आज ही बिहार में गठबंधन टूट सकता है। हमें कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन साथ रहेगा और कौन जाएगा। नोटबंदी के मसले पर आलाकमान के निर्देश पर बिहार कांग्रेस ने बुधवार को करगिल चौक से जेपी गोलंबर गांधी मैदान तक विरोध मार्च किया। इस दौरान कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कांग्रेस के इस विरोध को देखते हुए शिक्षा मंत्री से पूछा गया कि नीतीश कुमार तो नोटबंदी के साथ हैं ?

इसके जवाब में उन्होंने कहा नोटबंदी को लेकर अलग-अलग दलों की अलग-अलग प्रतिक्रिया और सोच है। बिहार कांग्रेस भले ही महागठबंधन में है, लेकिन वह अखिल भारतीय कांग्रेस के प्रति उत्तरदायी है। महागठबंधन के प्रति नहीं। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार नोटबंदी के पक्ष हैं, यह उनके राजनीतिक दल का विचार है, कांग्रेस नोटबंदी का विरोध कर रही है। हर पार्टी अपने सिद्धांत पर अमल करके आगे बढ़ती है। बिहार कांग्रेस ने पार्टी के निर्देश पर बिहार में नोटबंदी की वजह से होने वाली परेशानी को देखते हुए आज विरोध मार्च का आयोजन किया था।

इस मसले पर जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि गठबंधन में सबको बोलने और अपनी राय रखने की पूरी छूट है। उन्होंने कहा कि बिहार से भाजपा को भगाने के लिए गठबंधन किया गया है। हमने जनता के लिए गठबंधन किया है। सबकी अपनी-अपनी सोच होती है, कोई जरूरी नहीं कि गठबंधन के सभी दलों की सोच एक हो। कांग्रेस ने भी अब तक कालेधन पर रोक के खिलाफ अपना कोई बयान जारी नहीं किया है। उन्होंने कहा कि अशोक चौधरी का बयान एेसा कोई अापत्तिजनक बयान नहीं है। महागठबंधन अटूट है और अटूट रहेगा।

Loading...

शिक्षा मंत्री के द्वारा महागठबंधन से अलग हो जाने का बयान देने के मामले पर उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि ब्यान कौन दे रहा हैं, ये देखना भी महत्त्वपूर्ण हैं। गठबंधन में शामिल होने का फैसला कांग्रेस आलाकमान ने किया था। अब अलग होने का फैसला भी वही कर सकते हैं। अशोक चौधरी का बयान बेमायने हैं।

You May Like These Too!
loading...
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...