loading...

AK-47 लिए जंगलों में घूम रही है ये IPS, कर रही है आतंकियों का खात्मा

Uncategorized

नई दिल्ली. असम की महिला IPS अफसर संजुक्ता पराशर शोणितपुर जिले के जंगलों में आतंकवाद-विरोधी ऑपरेशन चला रही हैं। हाल ही में उनके इस ऑपरेशन की फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हुई है, जिसमें वे अपनी पूरी टीम के साथ हाथों में AK-47 राइफल लिए नज़र आ रही हैं।
पराशर पिछले 15 महीनों से एंटी बोडो आतंकी ऑपरेशन पर अपनी पूरी टीम के साथ काम कर रही हैं। इस ऑपरेशन के तहत अब तक 16 आतंकियों को मार गिराया है, जबकि 64 आतंकियों की गिरफ्तारी की है। साथ ही, भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद भी कब्जे में लिया है।संजुक्ता पराशर और उनकी टीम ने 2014 में 175 आतंकियों को गिरफ्तार किया था। वहीं, 2013 में 172 आतंकियों को जेल में पहुंचाया था।
दिल्ली से की पढ़ाई
संजुक्ता ने दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से पीएचडी की है। वे साल 2006 बैच की आईपीएस ऑफिसर हैं। वहीं, उनकी नियुक्ति असम की पहली महिला IPS अफसर के रूप में हुई थी। संजुक्ता का एक बेटा भी है।
जातीय हिंसा को काबू करना था पहला ऑपरेशन
संजुक्ता की 2008 में पहली पोस्टिंग माकुम में असिस्टेंट कमांडेंट के तौर पर हुई थी, कुछ समय बाद उन्हें उदालगिरी में हुई बोडो और बांग्लादेशियों के बीच की जातीय हिंसा को काबू करने के लिए भेज दिया गया। यूपीएससी परीक्षा में संजुक्ता की रैंक 85वीं थी। अगर वो चाहतीं तो उन्हें आसानी से डेस्क जॉब मिल सकती थी, पर उन्होंने आईपीएस का कठिन रास्ता चुना। आज वो हर दिन आतंकियों से लड़ रही हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Jagruk Indian के फेसबुक पेज को लाइक करें

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published.